सफल होने का राज है हेनरी फोर्ड - TheSupportingGuys

TheSupportingGuys

hello friends , welcome to TheSupportingGuys blog . i am here because of my aspiration and willings . this blog about viral news and many more.

Breaking

Sunday, 7 February 2016

सफल होने का राज है हेनरी फोर्ड






सभी के जीवन में एक समय ऐसा आता है जब सभी चीज़ें आपके विरोध में हो रहीं हों और हर तरफ से निराशा मिल रही हो| चाहें आप एक प्रोग्रामर हैं या कुछ और, आप जीवन के उस मोड़ पर खड़े होता हैं जहाँ सब कुछ ग़लत हो रहा होता है| अब चाहे ये कोई सॉफ्टवेर हो सकता है जिसे सभी ने रिजेक्ट कर दिया हो, या आपका कोई फ़ैसला हो सकता है जो बहुत ही भयानक साबित हुआ हो
हेनरी फ़ोर्ड, जो बिलियनेर और विश्वप्रसिद्ध फ़ोर्ड मोटर कंपनी के मलिक हैं | सफल बनने से पहले फ़ोर्ड पाँच अन्य बिज़निस मे फेल हुए थे | कोई और होता तो पाँच बार अलग अलग बिज़निस में फेल होने और कर्ज़ मे डूबने के कारण टूट जाता| लेकिन फ़ोर्ड ने ऐसा नहीं किया और आज एक बिलिनेअर कंपनी के मलिक हैं |ऐसा नहीं है कि हेनरी फोर्ड एक ही बार में सफल हो गए थे। इससे पहले इन्‍होंने भी पाँच अन्‍य व्‍यापार में असफलता पाई थी, लेकिन इससे वे हताश नहीं हुए, न ही हार मानी बल्कि अपनी मेहनत के ज‍रीए वे एक बहुत ही बड़ी कम्‍पनी के मालिक बने, जिनको आज उनके पड़-पोते चला रहे हैं।

एक बार वे किसी काम के सिलसिले मेंलन्‍दन गए। वहां उन्‍होंने एक पूछताछ कार्यालय में सबसे सस्‍ते होटल के बारें में पूछा। काउण्‍टर पर बैठे व्‍यक्ति ने उन्‍हें पहचान लिया और कहा, “आपके बेटे आते हैं, तो वे यहां सबसे आलीशान होटल के बारे में पूछतें हैं और आप सबसे सस्‍ते होटल के बारें में पूछ रहें हैं!”

हेनरी फोर्ड ने इसके उत्तर में कहा, “वे एक अमीर बाप के बेटे हैं और मैं एक गरीब बाप का बेटा।”


Life Changing अनमोल वचनों का एक छोटा सा संग्रह।

 हर एक चीज से पहले तैयार होना, सफलता का रहस्‍य है।
Before everything else, getting ready is the secret of success.

बाधाएं वो डरावनी चीजें है, जो आप तब देखते हैं, जब आप लक्ष्‍य से अपनी आँखें हटा लेते हैं।
Obstacles are those frightful things you see when you take your eyes off your goal.


खुशी की तरह दौलत भी कभी प्रत्‍यक्ष रूप से नहीं मिलती। यह किसी उपयोगी सेवा के फलस्‍वरूप मिलती है।
Wealth, like happiness, is never attained when sought after directly. It comes as a by-product of providing a useful service.

पूंजी का उच्‍चतम उपयोग और पैसे बनाने में नहीं है, बल्कि पैसे से जिन्‍दगी को और बेहतर बनाने में है।
The highest use of capital is not to make more money, but to make money do more for the betterment of life.


Pages